जिस तरह योगी सरकार एक्शन पर एक्शन ले रही है| लगता है वो 5 साल के लिए नहीं बल्कि T20 खेलने आई है| बीती रात 1 बजे तक अधिकारियो और मंत्रियो के साथ योगी आदित्यनाथ ने मीटिंग की| इस मीटिंग में कई फैसले लिए गए जिनसे आने वाले समय में जनता को फायदा मिलना तय माना जा रहा है| उन्होंने अखिलेश यादव को झटका देते हुए सारी सरकारी योजनाओ में से समाजवादी को हटाने का आदेश दिए है| समाजवादी की जगह हर योजनाओ में मुख्यमंत्री शब्द का होगा प्रयोग|

योगी सरकार द्वारा लिए गए फैसले

रात एक बजे तक हुई मीटिंग में योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश के लिए कई अहम् फैसले लिए गए| जिन्हे आदित्यनाथ योगी ने जल्द से जल्द लागू करने के भी कड़े निर्देश दे दिए है|

बिजली की आपूर्ति

मुख्यमंत्री ने मीटिंग में स्पष्ट कहा कि 14 अप्रैल से जिला मुख्यालयों में 24 घंटे, तहसील और गावं में 18 घंटे बिजली की सप्लाई होनी चाहिए| उन्होंने सम्बंधित अधिकारियो को कहा कि इस बात का पूरा ख्याल रखा जाये कि कही से भी कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए| जल्द से जल्द इस फैसले पर काम होना चाहिए| मुख्य्मंत्री ने कहा अगले 100 दिनों में पांच लाख नए कनेक्शन होने चाहिए| बिजली की चोरी रोकने के लिए अफसर प्रोजेक्ट बनाकर हमें दिखाए| 14 अप्रैल को केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल के साथ ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा की बैठक होनी है| योगी सरकार ने 2018 के अंत तक उत्तर प्रदेश के हर घर में बिजली पहुंचाने का संकल्प लिया है|

योगी सरकार ने लिया आधी रात एक्शन, अखिलेश यादव को झटका

जेवर में बनेगा एयरपोर्ट

ग्रेटर नोएडा के पास जेवर में एयरपोर्ट को मंजूरी दे दी गई है| नोएडा और ग्रेटर नोएडा के कार्यो में हुई देरी की जांच के आदेश दे दिए गए है| यह एयरपोर्ट मायावती ने पास किया था| परन्तु अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी ने जेवर की जगह आगरा को तवज्जो दी थी| अब योगी की बीजेपी सरकार ने जेवर में ही एयरपोर्ट बनाने के आदेश दे दिए है|

सरकारी योजनाओ से हटेगा समाजवादी

योगी जी ने एक अन्य महत्वपूर्ण निर्णय प्रदेश की सरकारी योजनाओ से समाजवादी शब्द हटाने का लिया है| बीजेपी प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ ने बताया बैठक में सरकारी योजनाओ से समाजवादी हटाकर मुख्यमंत्री लगाने की सहमति बनाई गई है| सरकारी योजनए जैसे समाजवादी पेंशन योजना, 108 समाजवादी एम्बुलेंस सेवा आदि|

उत्तर प्रदेश में भी गुजरात मॉडल को अपनाया जायेगा| जिन क्षेत्रों में कुछ नहीं है वहां उद्योग लगाए जायेंगे| सरकार ने मीटिंग में बुंदेलखंड के विकास पर अधिक जोर देते हुए कहा है कि उद्योग वहां पर स्थापित करना हमारी प्राथमिकता रहेगी| साथ ही बैठक में इस बात को स्पष्ट कर दिया गया है कि पिछली योजनाओ में अगर कोई गड़बड़ी पाई गई| तो सम्पूर्ण जाँच के साथ दंड जरूर मिलेगा|