किसी महिला से सम्बन्ध के विषय में भले ही हर पुरुष की पसन्द अलग-अलग होती है पर महिलाओं के विषय में कुछ बातें ऐसी हैं जो हर पुरुष को उसकी ओर आकर्षित करती हैं। उसके बारे में सोचने और उसके बारे में और अधिक जानने के लिए मजबूर कर देती है।

अगर आप अपनी पसन्द के पुरुष का दिल जीतना चाहती हैं, उसे अपना बनाना चाहती है, तो आपका यह जानना बहुत जरूरी है कि वह पुरुष आपके साथ मात्र साधारण डेटिंग के आपको और अधिक कैसे चाहे और आपके बारे में, और आपको पाने के लिए कैसे बहुत ज्यादा उत्सुक हो जाये।

ऐसी स्थिति में मैं किसी भी आम पुरुष की नहीं बल्कि वास्तव में एक शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक और सम्बन्धों के प्रति परिपक्व सोच रखने वाले मेच्यूर/डेवलप्ड व्यक्ति की बात हो रही है जो आपको वास्तव में दिल से चाहते हैं और आपके साथ जीवन भर का सम्बन्ध बनाने के इच्छुक हैं। और, यही कारण है कि आप ऐसे पुरुष को अपनी और आकर्षित करने के लिए ही इस लेख को ध्यान से पढ़ रही हैं।

आखिर एक परिपक्व पुरुष एक महिला में क्या चाहता है ?

1) एक पुरुष ऐसी महिला चाहता है जो थोड़ी चुलबुली हो

जिसे खेल खेलने में आनन्द मिलता हो, न कि वह कोई नीरसता से भरी गुडि़या हो।

खेल ऐसी गतिविधि है जो पुरुषों को दीवाना बना देती है और दिल से जुड़ने के लिए मजबूर कर देती है। पुरुष एक्टिव रहना और खेल खेलना पसन्द करते हैं। वे कुछ इस प्रकार पलते-बढ़ते हैं कि वे अपने आपको अपने आसपास के लोगों से अपनी गतिविधियों के माध्यम से व्यक्त करते हैं ओर उनके साथ जुड़ते हैं।

इसे दुर्भाग्य ही कहेंगे कि महिलाएं यह बात भूल जाती हैं और पुरुषों को अपने खुद के तरीकेां से आकर्षित करने की कोशिश करती हैं। पर पुरुष महिलाओं के इस प्रकार के व्यवहार को गंभीरता से नहीं लेते हैं। ऐसे तरीकों का पुरुष पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। प्रभाव पड़ता है तो बस उस हसीन अनुभव का जिसका स्वाद आपने उस पुरुष केा दिया होता है।

अगर आप किसी पुरुष को आप अपनी ओर गंभीरता से सोचने के लिए मजबूर करना चाहती हैं तो कोई खेल साथ में देखें या खेलें, उनके साथ खेलों में प्रतिस्पर्धा करें जैसे बेड-मिन्टन, पिंग-पोंग आदि।

उनके साथ थोड़ी छेड़खानी करें ओर उन पर कुछ कटाक्ष कसें। तब देखिेये वे कैसे आपकी ओर आकर्षित नहीं होते?

2) एक पुरुष ऐसी महिला चाहता है जो स्वावलम्बी हो

गलती से बहुत सी महिलाएं ऐसा सोचती हैं कि पुरुषों को कमजोर लड़कियाँ पसन्द आती हैं जो उनको होशियार और सशक्त होने का ऐहसास कराती हैं। जबकि ऐसा नहीं है।

पुरुष ऐसी महिलाओं को पसन्द करते हैं जो उन्हें उत्साहित करती है क्योंकि खुद उस महिला कि दिलो-दिमाग में बहुत कुछ करने का जोश भरा हुआ है। उन्हे ऐसी महिला चाहिये जिसका अपना कुछ उददेश्य हो न कि सिर्फ इस सम्बन्ध से ही सम्बन्धित हो।

एक महान पुरुष महिला की स्वतंत्रता या कामयाबी से परेशान नहीं होता। पुरुष को पसन्द आता है कि स्वासलम्बी होते हुए भी महिला के पास इस हसीन सम्बन्ध को बनाये रखने की क्षमता है। वह मात्र उसे खुश करने के लिए ही उस पर आश्रित नहीं है।

पुरुष को यह जताने के लिए आप अपने संसार में अपने तरीके से व्यस्त रहें न कि उस पुरुष को ही अपना संसार मान लें। उसके साथ रहने के लिए आप अपनी रुचियों, दायित्वों व मित्रों से दूर न रहें। लेकिन जब आप उसके साथ हों तो बस फिर उसी के साथ हों। उसके साथ खूब मस्ती करें, अपना ध्यान उस पर और आप दानों जो कर रहे हैं बस उसी पर केन्द्रित करें।

3) एक पुरुष ऐसी महिला चाहता है जो भावनात्मक रूप से दृढ़ हो।

जब एक पुरुष एक महिला की ओर आकर्षित होता है तो ऐसी स्थिति आती ही है कि जहाँ आप और वह पुरुष एक दूसरे की कुछ चीजों को अलग रूप से देखते और समझते हैं।

इस भावना के विषय में आप किस प्रकार से जवाब देंगे ?

एक महिला जो भावनात्मक रूप से दृढ़ है वह अपनी भावना को लेकर पुरुष पर न तो दोषारोपण करेगी और न ही आलोचना। बल्कि वह अपनी भावनाओं से पुरुष को ईमानदारी से और सही तरीके से बतायेगी जिससे पुरुष को उस महिला को अच्छे से समझने में सहायता मिलेगी और वह उसकी बात से उसकी ओर आकर्षित भी होगा।

जब एक पुरुष यह निर्णय लेता है कि वह किसी महिला के साथ अपने सम्बन्ध को गंभीरता से आगे बढ़ाये या नहीं, उस समय महिला का भावनात्मक पक्ष बहुत प्रभाव डालता है। यदि वह अपनी भावनाओं पर नियन्त्रण नहीं रख पाती है तो समझ लीजिये कि पुरुष के लिए इस सम्बन्ध को आगे न बढ़ाने का संकेत मिल गया है।

दूसरी तरफ, यदि वह अपनी भावनाओं को बड़े आराम से, अनाटकीय तरीके से बताती है तो उसे उस पुरुष का दिल जीत लेगी और उसे जतला देगी कि वह उसके लिए सही जीवन साथी बन सकती है। वह समझ जायेगा कि यह महिला विभिन्न परिस्थितियों में ठण्डे दिमाग से काम लेकर आगे बढ़ सकती है न कि तिल का ताड़ बनाने वालों में से है।

4) एक पुरुष ऐसी महिला चाहता है जिसकी ओर वह बुरी तरह से आकर्षित हो।

पुरुष प्रतिबद्धता और सम्बन्धों से नहीं घबराते। वे घबराते हैं तो ऐसे सम्बन्ध से जिसमें न कोई लगाव हो और न कोई आकर्षण। गलती से महिलाएं उस आकर्षण को जबरदस्ती अपने आप को पुरुष द्वारा चाहने की कोशिश में खत्म कर देती हैं या फिर यह दर्शा कर कि यह सम्बन्ध बहुत जल्दी बहुत गंभीर हो गया है।

ऐसी जल्दी क्या है ? चीजों के अपने समय में होने दीजिये। कोशिश करें कि आप शुरु से ही कुछ ऐसी बातें कहें/करें जो आपके सम्बन्धों को हंसनुमा बनाये रखे। इससे ज्यादा और आकर्षित किसी पुरुष के लिए कुछ नहीं हो सकता कि उसकी साथी जीवन में आराम से और मस्त कैसे रहें।

यह सब आप उसे छेड़कर, उससे मस्ती और मजाक करके और कुछ ऐसा करके कर सकती हैं जो उसने सोचा ही न हो। उदाहरण के लिए जब आप उससे मिलें तो यह न पूछें कि वह अपना जीवन यापन कैसे करता है बल्कि उससे पूछें कि वह कौन से खेल खेलता है या उसे किस चीज़ में ज्यादा मजा आता है।

जब आप एक बार सम्बन्ध में बंध जायेंगे तो बहुत समय होगा ऐसी गंभीर बातों के लिए। यदि आप अधिकतर रविवार को दिन का खाना बाहर खाते हैं तो सुझाव दीजिये की बाईक की सैर की जाये और एक पिकनिक मनाया जाये बजाय इसके कि पास के रैस्ट्रां में जाकर खान खा लें।

चीजों को रोमांचक बनायें इससे आप दोनों के सम्बन्ध हंसनुमा होंगे और एक महिला होने के नाते जो कि नये अनुभवों को के साथ चलती है, उसके लिए आकर्षक होगा।

(आकर्षण, लगाव, पुरूष, महिला, सम्बन्ध, खेल, भावनात्मक, परिपक्व, जीवन, बाईक, सैर, मित्र, मस्ती)