Kabir ke dohe

Sant Kabir ke Dohe, Kabir vani, Kabir Dohavali, Sant Kabir Das

तू तू करता तू भया, मुझमें रही न हूं।
बारी तेरे नाम पर, जित देखूं तित तूं।।

Tu tu karta tu bhaya, Mujhme rahi na hun
Baari tere naam par, Jeet dekhun teet tun

अर्थात (Meaning in Hindi): हे परमात्मा! तुम्हारे नाम का सुमिरन करते करते मैं तुम जैसा हो गया हूं। अब मेरे मन में सांसाकिर वासना, ममता एवं तृष्णा नहीं है। मैं तेरे अविनाशी नाम ज्ञान के ऊपर न्यौछावार हूं। मेरी दृष्टि जिधर भी घूमती है उधर तुम्हारा ही स्वरूप दिखायी देता है।


जब तू आया जगत में, लोग हंसे तू रोय।
ऐसी करनी ना करो, पीछे हंसे सब कोय।।

Jab tu aaya jagat mein, Log hanse tu roya
Aisi karni na karo, Piche hanse sab koya

अर्थात (Meaning in Hindi): जब तेरा जन्म हुआ तो उस समय तेरे आने की खुशी में तेरे माता पिता भाई बन्धु सगे सम्बन्धी प्रसन्नता से हंसने लगे पर तू रो रहा था अब ऐसी करनी मत करना कि तेरी मृत्यु के पश्चात तुझ पर लोग हंसे अर्थात् सतकर्म करो जिससे लोग तुझे तेरी मृत्यु के पश्चात भी याद करें तेरे सदगुणों के सम्मुख सिर झुकायें।


कस्तूरी कुन्डल बसे, मृग ढूंढे बन माहिं।
ऐसे घट घट राम हैं, दुनियां देखे नाहिं।।

Kasturi kundal base, Mrig dhunde ban mahin
Aise ghat ghat ram hain, Duniyan dekhe nahin

अर्थात (Meaning in Hindi): टति सुगन्धित कस्तूरी मृग के नाभि में होती है, जब घास चरने के लिए मृग अपनी सिर नीचे करता है तो कस्तूरी की सुगन्ध उसे मिलती है और उसे ढूंढने के लिए वह जंगल में इधर उधर दौड़ता फिरता है जबकि कस्तुरी तो उसकी नाभि में है जिसका ज्ञान उसे नहीं है उसी प्रकार अविनाशी भगवान तुम्हारे अपने हदय में विद्यमान हैं किन्तु सांसरिक प्राणी उन्हें देख नहीं पाते।

यह भी पढ़िए  आब गया आदर गया, नैनन गया सनेह - Kabir Ke Dohe

माटी कहे कुम्हार से, तू क्यों रौंदे मोय।
एक दिन ऐसा आयेगा, मैं रौंदूगी तोय।।

Maati kahe kumhar se, Tu kyun rounde moya
Ek din aisa ayega, Main rounduga toya

अर्थात (Meaning in Hindi): मिट्टी कुम्हार से कहती है कि तू मुझे क्यों रौंदता है। एक दिन ऐसा आयेगा कि मैं तुम्हें रौंदूगी अर्थात् मृत्यु होने के बाद मिट्टी में दफना दिया जायेगा।


मेरा मुझमें कुछ नहीं, जो कुछ है सब तोर।
तेरा तुझ को सौंपते, क्या लागेगा मोर।।

Mera mujhmen kuch nahi, Jo kuch hai sab tor
Tera tujh ko sonpte, Kya lagega mor

अर्थात (Meaning in Hindi): भगवान को सम्बोधित करते हुए संत जी कहते हैं कि मेरा मुझमें कुछ नहीं है जो है सब तेरा है। तेरी वस्तु तुझे सौंपते हुए मेरा क्या लगता है।