रात के समय ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिऐ रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने एक बड़ा बदलाव किया है. अब रात में सो रहे यात्री की टिकट जांचने के लिए उसे उठाया नहीं जाएगा. मालुम हो कि यह व्यवस्था स्लीपर और एसी क्लास में लागू की जाएगी.

फिलहाल टीटीई रात के वक्त भी सोए हुए यात्री को जगा कर उनका टिकट जांचते हैं.जो यात्री को बिल्कुल भी पसंद नहीं आता है, लेकिन नियमों के चलते ऐसा करना पड़ता है. यात्रियों की ओर से इस संबंध में कई शिकायतें आईं थी, जिसके बाद 27 जनवरी को यह आदेश सभी जोन में भेजा गया है.

नए आदेश के तहत रात की ट्रेनों में टिकट जांचने के लिए समय निर्धारित किया गया है. अब रात के 10 बजे से सुबह 6 बजे तक आरक्षित कोचों में टिकट जांच नहीं होगी. हालांकि कुछ मामलों में जांच को इस नियम से बाहर रखा गया है. जैसे की शक होने पर विजिलेंस और आरपीएफ के अधिकारी रात को किसी भी कोच में जाकर किसी भी यात्री को उठाकर जांच कर सकते हैं.

केवल उन यात्रियों के टिकट की जांच एक बार होगी जो रात में पड़ने वाले स्टेशनों से चढ़े हैं. यात्री की सुविधाओं को देखते हुए यह नियम साल 2010 से लागू था, लेकिन इसका पालन नहीं किया जाता था. लेकिन अब इसे लेकर सभी जोनों को फिर से आदेश भेजा गया है और इसका सख्ती से पालन करने के लिए कहा गया है. इस आदेश के बाद उम्मीद की जा रही है कि यात्रियों की सालों पुरानी मांग पूरी होगी और उन्हें परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.