गोरखपुर में पिछले 24 घंटों में 30 बच्चों के मारे जाने पर सोशल मीडिया पर संग्राम छिड़ गया है. लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी की चुप्पी पर जम कर लताड़ लगाई है.

आपको बता दें कि गोरखपुर में BRD हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की सप्लाई ख़त्म हो जाने पर 30 बच्चों की अचानक मौत हो गयी जिसके बाद देश भर में हाहाकार मच गया.

यह भी पढ़िए  योगी के गोरखपुर में पिछले 5 दिनों में 60 मौतें, पर इस लापरवाही का जिम्मेदार कौन?

विदेशी मीडिया ने भी इस मुद्दे पर पूरी कवरेज दी है जिससे विदेशों में भी भारत की छवि खराब हो रही है.

world news on gorakhpur

सोशल मीडिया पर लोग यह सवाल पूछ रहे हैं कि हर छोटी बात पर ट्वीट करने वाले प्रधानमंत्री मोदी ने 30 बच्चों की मौत पर संवेदना तक प्रकट करने की जहमत नहीं उठायी.

एक फेसबुक यूजर के अनुसार “पुर्तगाल में जंगल में लगी आग पर मरे लोगों पर प्रधानमंत्री बोल सकते हैं. रूस में विमान हादसा होने पर प्रधानमंत्री संवेदना प्रकट करते हैं पर गोरखपुर में 60 से अधिक बच्चे मारे गए पर प्रधानमंत्री ने एक्शन तो दूर, दो शब्द भी कहना ठीक नहीं समझा.”

यह भी पढ़िए  आप बच्चों की मौत का बेवजह मुद्दा क्यों बना रहे, यहाँ वन्दे मातरम पर डिबेट चल रही है.

ट्विटर पर विशाल नाम के एक यूजर ने लिखा है “आपने उत्तरप्रदेश में शमशान और कब्रिस्तान के नाम पर विजय पायी और अब उत्तरप्रदेश को शमशान बना दिया है.”

एक अन्य यूजर ने लिखा है “जब गाय ऑक्सीजन छोड़ती है तो फिर ऑक्सीजन खरीदने की क्या जरूरत थी? योगी ने गायों की तैनाती क्यों नहीं की?”