Shaadi Se Pehle Dadhi Rakhna Hai Thik Kintu Shaadi Ke Baad? Na Baba Na !

अब आजकल जिस ट्रेंड को आमतौर पर देखा जा सकता है वो है दाढ़ी रखने का फैशन। आपने देखा होगा आजकल के युवक क्लीन शेवन ना होकर दाढ़ी रखना ज्यादा पसंद करते हैं।

लेकिन वे लोग जो दाढ़ी रखना अपनी प्राथमिकता बना चुके हैं उन्हें ये बात समझ लेनी चाहिए कि दाढ़ी रखना केवल तभी तक उचित है जब तक कि आप अविवाहित हैं।

क्योंकि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार विवाहित पुरुष अगर दाढ़ी रखते हैं तो वे स्वयं ही अपने दांपत्य जीवन में खलल पैदा करते हैं।Shaadi Se Pehle Dadhi Rakhna Hai Thik Kintu Shaadi Ke Baad

ज्योतिषशास्त्र के अंतर्गत शुक्र ग्रह को स्त्री कामुकता, काम वासना और भोग-विलास के लिए उत्तरदायी माना गया है।

कालपुरुष सिद्धांत के अनुसार शुक्र ग्रह का व्यक्ति के दांपत्य जीवन के लिए उत्तरदायी सप्तम भाव और दूसरे भाव यानि धन भाव का प्रतिनिधित्व करता है।

कुंडली का सातवां भाव जीवनसाथी की सेहत, दांपत्य सुख और बिजनेस संबंध आपसी सांझेदारी को दर्शाता है, इसके अलावा स्त्री-पुरुष के जननांगों के विषय में भी बताता है।

शुक्र ग्रह से व्यक्ति का आकर्षण, मुख-मंडल का तेज आदि डील होता है, स्त्रियों का सौंदर्य और पुरुषों की भद्रता भी शुक्र ग्रह के प्रभाव से ही संभव है।

रावण संहिता और लाल किताब के अनुसार शरीर पर अनचाहे बालों का बढ़ना शुक्र ग्रह को नीचा करता है। इसी में शामिल है पुरुषों के चेहरे पर बढ़ने वाले दाढ़ी के बाल।

ज्योतिषविदों के अनुसार चेहरे पर दाढ़ी का बढ़ना शुक्र ग्रह को कमजोर करता है, जो वैवाहिक जीवन के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकता है।

यह भी पढ़िए  क्या है बच्चों से जुड़े इन अंध-विश्वासों के पीछे की असली वजह?

शुक्र ग्रह का कमजोर होना या तो व्यक्ति को कामवासना से विरक्त कर देता है या फिर अत्यंत कामुक बना देता है। ऐसे ही जननांगों पर अनचाहे बालों का उगना शुक्र ग्रह को कमजोर करता है।

दाढ़ी बनाने के लिए सर्वश्रेष्ठ दिनों की बात करें तो इसके लिए उपयुक्त दिन शुक्रवार, सोमवार और बुधवार है।

इसीलिए दांपत्य जीवन को सुखमय बनाने के लिए बहुत जरूरी है कि व्यक्ति अपने शरीर के अनचाहे बालों को समय-समय पर हटाता रहे। इससे दांपत्य जीवन भी सुखमय रहेगा और जीवनसाथी का आपके प्रति लगाव भी कम नहीं होगा।