सात साल की बच्ची ने लिखा गूगल के सीईओ को ख़त, जवाब जान कर हैरान रह जायेंगे आप!

इंसान जब अपने बचपन के पड़ाव में होता है तो उससे उसके माता पिता या घर में आने वाले मेहमान एक ही बात पूछते हैं कि,  “तुम बड़े हो कर क्या बनना चाहते हो या तुम्हारा लक्ष्य क्या है.” क्योंकि जिन्दगी में जब तक कोई लक्ष्य ना हो तब तक हमारा जीना व्यर्थ है. हर किसी के जिन्दगी का एक लक्ष्य होता है.

इसी तरह इंग्लैंड में रहने वाली सात साल की बच्ची का भी एक लक्ष्य है. उसने अभी से ही अपने भविष्य के लिए एक सपना संजो लिया है. यहाँ तक कि इस सपने को साकार करने के लिए उसने गूगल के सीईओ सुन्दर पीचाई को ख़त भी लिख डाला है.

ये कहानी नहीं बिलकुल सच्ची घटना है. सात साल की क्लो ब्रिजवाटर नाम की ये बच्ची इंग्लैंड में रहती है. लेकिन इस उम्र में ही इसने जो काम किया है वो पुरे दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है. दरअसल क्लो बड़ी होकर गूगल में काम करना चाहती हैं. जिसके लिए उसने आवेदन अभी से ही डाल दिया है. आवेदन के तौर पर क्लो ने गूगल के सीईओ को एक ख़त भी लिखा है. ख़त के जरिये उसने दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी में से एक गूगल में नौकरी की मांग की है. इसमें सबसे दिलचस्प ये रहा कि क्लो को इस ख़त का जवाब भी मिला है.

 

सात वर्षीय क्लो ब्रिजवाटर नाम की इस नन्हीं बच्ची ने अपने ख़त में लिखा है कि, “वह बड़ी होकर गूगल में काम करना चाहती है. इतना ही नहीं पिचाई को लिखे खत में क्लो ने अपनी रूचियों के बारे में भी बताया.” उसने आगे लिखा है , ”मैं चॉकलेट फैक्ट्री में भी काम करना चाहती हूं और ओलंपिक में स्वीमिंग करना चाहती हूं. मैं हर मंगलवार और शनिवार को स्विमिंग प्रैक्टिस करने जाती है.” चिट्ठी में क्लो ने बताया है कि, ”मुझे कंप्यूटर पसंद है और मेरे पास एक टैबलेट है, जिसमें मैं गेम खेलती हूं. ” क्लो ने लिखा है कि, उसके पिता ने कहा कि उसे गूगल में नौकरी के लिए आवेदन देना चाहिए.

इस ख़त के जवाब में गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने लिखा है, ”मुझे यह जानकर खुशी है कि आपको कंप्यूटर और रोबोट्स पसंद है और मैं उम्मीद करता हूं कि आप टेक्नोलॉजी के बारे में सीखना जारी रखेंगी.” सुंदर पिचई ने क्लो को सलाह दी है कि, ”अगर आप मेहनत करते हैं तो गूगल में काम करने से लेकर ओलंपिक में स्वीमिगं तक के सपने को हासिल कर सकते हैं. इसके साथ ही सुंदर ने नन्हीं क्लो को लिखा, ”जब आप अपना स्कूल की पढ़ाई खत्म कर लेंगी, मैं आपके जॉब एप्लिकेशन के बारे में सोचूंगा.”

मालुम हो कि क्लो के इस ख़त को उसके पिता एंडी ब्रिजवाटर ने इन्टरनेट पर शेयर किया था. पीचाई के जवाब के बाद क्लो के पिता ने बताया कि, “कुछ साल पहले एक कार दुर्घटना के बाद क्लो ने अपना विश्वास खो दिया था. लेकिन सुंदर पिचाई के जवाब के बाद उसका खोया हुआ विश्वास वापस आ गया है और उसकी दुनिया बदल गई है.” एंडी ने बताया कि “अब क्लो ज्यादा मेहनत से पढ़ाई कर रही है और जल्द से जल्द अपने स्कूल की पढ़ाई खत्म कर लेना चाहती है. ताकि उसे गूगल में काम करने का मौका मिल सके.”

Mritunjay

Author: Mritunjay

राष्ट्रीय राजनीति में विशेष रुझान रखते हैं. कभी कभार अन्य मुद्दों पर भी अपनी राय बेबाक तरीके से रखते हैं ! विशेष जानने के लिए इनसे फेसबुक के माध्यम से जुड़ सकते हैं! हिन्दीवार्ता पर इनके रोचक लेखों को पढ़िए और दिल खोल कर शेयर कीजिये.