सोमवार को दिल्ली के डलहौजी रोड का नाम बदल दिया गया. राष्ट्रपति भवन से दो किलोमीटर से भी कम की दूरी पर मौजूद डलहौजी रोड को अब दारा शिकोह के नाम से जाना जाएगा. नाम बदले जाने के प्रस्ताव को एनडीएमसी ने आज हरी झंडी दी है. इससे पहले और भी नई दिल्‍ली एरयिा के कई रोड के नाम बदले गए हैं. जानिए कौन कौन से रोड के नाम बदले गए.

  • रेसकोर्स रोड- पिछले साल 21 सितंबर, 2016 को लुटियंस दिल्ली के फेमस रेसकोर्स रोड का नाम बदलकर लोक कल्याण मार्ग किया गया. इस रोड की बड़ी पहचान यह है कि यहां देश के प्रधानमंत्री का घर है.

 

  • औरंगजेब रोड- 28 अगस्त, 2015 को औरंगजेब रोड का नाम पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर किया दिया. अब इस रोड को एपीजे अब्दुल कलाम रोड के नाम से जाना जाता है.

 

  • कैनिंग रोड- औरंगजेब रोड का नाम बदलने से करीब 13 साल पहले कैनिंग रोड का नाम बदला गया था. इस रोड का नाम बदलकर माधवराव सिंधिया रोड कर दिया गया. रोड का नाम बदले जाने पर भी विरोध किया था

 

  • कनॉट प्लेस- 12 जनवरी, 1996 को कनॉट प्लेस का नाम बदलकर राजीव चौक कर दिया गया. एरिया का नाम तो बदल दिया गया, लेकिन आज तक लोग इसे कनॉट प्लेस ही बोलते आ रहे हैं.

 

  • कनॉट सर्कस-कनॉट प्लेस के साथ ही कनॉट सर्कस का नाम भी बदल दिया गया. दोनों जगहों के नाम एक दिन ही बदले गए. 12 जनवरी, 1996 को ही कनॉट सर्कस का नाम दिल्ली इंदिरा गांधी चौक किया गया.