पति-पत्नी में लड़ाई होना स्वाभाविक है| कुछ लड़ाइयां इतनी बढ़ जाती है कि वो कोर्ट तक पहुंच जाती है| आज हम आपको ऐसी ही लड़ाई के बारे में बताने जा रहे है| जिनका केस छोटे कोर्ट से चलकर देश के सबसे बड़े कोर्ट सुप्रीम कोर्ट तक जा पंहुचा| सुप्रीम कोर्ट भी इस तरह के अजब केस को देखकर दंग है| अब तक दोनों कपल्स ने एक-दूसरे पर 67 केस दर्ज कराये है|

पति-पत्नी ने दर्ज कराये 67 केस एक-दूसरे पर

भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक ने अपनी पत्नी पर अब तक 58 केस दर्ज कराये है| जिसके जवाब में पत्नी ने भी अपने पति पर 9 केस दर्ज करवा दिए| ज्यादातर केस दहेज़ उत्पीड़न, घरेलु हिंसा, अवमानना, बच्चे की कस्टीडी आदि को लेकर किये गए है| जज के पास 67 वां केस बच्चे की कस्टीडी को लेकर आया है| जज ने उन्हें बच्चे के साथ 27 अप्रैल को बुलाया है| बच्चे की उम्र 8 साल है| जाहिर है बच्चे से पूछा जायेगा कि तुम किसके साथ रहना चाहोगे?

पति-पत्नी की ऐसी लड़ाई नहीं देखी होगी आपने

सुप्रीम कोर्ट के जज न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ और न्यायमूर्ति आर भानुमति पति-पत्नी के इतने केस देखकर दंग रह गए| सुनवाई के दौरान जज जोसेफ ने कहा मैंने अपने पूरे लीगल कॅरियर में इस तरह का वाकया नहीं देखा है| जिसमे पति-पत्नी ने एक-दूसरे पर इतने सारे केस दर्ज करवाए हो| सच में यह एक अजीब बात है| जोसेफ ने एक पुराने वाकय को याद करते हुए कहा उन्हें याद है कि लास्ट टाइम उनके पास 36 केस दर्ज होने का मामला सामने आया था| इस मामले में कपल्स ने एक-दूसरे पर 36 मामले दर्ज करवाए थे|

मामले से जुडी बातें

इस जोड़े की शादी मई 2002 में हुई थी| शादी भारत में ही हुई थी| शादी के बाद दोनों अमेरिका में शिफ्ट हो गए| 2009 में इनके यहाँ बेटे का जन्म हुआ| बेटे के जन्म के बाद से ही दोनों में झगडे शुरू हो गए| दोनों में बढ़ते तनाव से परेशान होकर पत्नी बैंगलोर आ गई| जिसके बाद से दोनों में केस दर्ज करने की होड़ सी मच गई| अब अंतिम केस बच्चे की कस्टीडी को लेकर किया गया है| जिसके लिए जज ने दोनों को बच्चे के साथ 27 अप्रैल को कोर्ट में हाजिर होने के लिए बोला है|