ऑपरेशन क्लीन मनी के पहले चरण के तहत विभाग ने ऑनलाइन प्रश्न पूछे और 17.92 लाख लोगों की जांच की| जिसमें से 9.46 लाख लोगों ने जवाब दिया। ‘ऑपरेशन क्लीन मनी’ के दूसरे चरण के तहत आयकर विभाग 60,000 से ज्यादा लोगों की जांच करेगा| जिसका शुभारंभ शुक्रवार को काले धन के पता लगाने के उद्देशय से किया जायेगा|

ऑपरेशन क्लीन मनी में आई-टी विभाग करेगा 60,000 लोगों की जांच

सीबीडीटी ने ऑपरेशन क्लीन मनी के दूसरे चरण की शुरुआत की

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (सीबीडीटी) विभाग की नीति-निर्माण संस्था ने कहा है कि 9 नवंबर, 2016 की अवधि के बीच इस वर्ष 28 फरवरी से 9,334 करोड़ रुपये के अनगिनत आय का पता चला है। ज्ञात हो पिछले साल 8 नवंबर को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने नोट प्रतिबंध का ऐलान किया था। 1300 उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों सहित 60,000 से अधिक व्यक्तियों की पहचान की गई है| इसमें इस अवधि के दौरान अत्यधिक नकदी बिक्री के दावों की जांच होनी है| उच्च मूल्य संपत्ति खरीद के 6,000 से अधिक लेनदेन और बाह्य प्रेषण के 6,600 मामले विस्तृत जांच के अधीन होंगे।

सीबीडीटी ने कहा, सभी मामलों में जहां कोई जवाब नहीं मिला है, उन्हें विस्तृत जांच के अधीन किया जाएगा। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ऑपरेशंस के नवीनतम संस्करण को लॉन्च करने से पहले सभी संदिग्ध नकदी जमा की पहचान करना जरुरी है| इसके लिए उन्नत डेटा विश्लेषक का इस्तेमाल किया गया है। इस साल 31 जनवरी को ‘ऑपरेशन क्लीन मनी’ के शुरुआती चरण के तहत विभाग ने ऑनलाइन प्रश्न पूछे और 17.92 लाख लोगों की जांच की| जिसमें से 9.46 लाख लोगों ने विभाग को जवाब दिया। जिन लोगो ने अभी तक जबाब नहीं दिया है संस्था उन लोगो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही का प्लान बना रही है| ऐसे लोगो की सूची बनाई जा रही है, जिससे कोई भी व्यक्ति छूटे नहीं|