लालू परिवार की बढ़ी मुश्किलें, मिट्टी घोटाले को लेकर कभी भी हो सकती है जांच

लालू परिवार की बढ़ी मुश्किलें मिटटी घोटाले को लेकर कभी भी हो सटकी है जांच

लालू परिवार की मुश्किलें बढ़ सकती है| बिहार में हुए मिट्टी घोटाले को लेकर आरजेडी प्रमुख समेत पूरा परिवार मुश्किल में पड़ सकता है| राज्य के मुख्य सचिव ने सम्बंधित अधिकारियो से पूरी रिपोर्ट मांगी है| मुख्य सचिव अंजनी कुमार ने वन एवं पर्यावरण अधिकारियो से पूरी टेंडर प्रक्रिया से सम्बंधित फाइलें मंगवाई है| सचिव ने अधिकारियो को कहा है कि जल्द से जल्द मामले से जुड़े सारे तथ्य प्रस्तुत किये जाएँ|

लालू परिवार की बढ़ी मुश्किलें मिटटी घोटाले को लेकर कभी भी हो सटकी है जांच

लालू परिवार का मिट्टी घोटाला!

आपको बता दे बीजेपी बिहार दल के नेता सुशील मोदी ने यह आरोप लगाया है कि संजय गाँधी जैविक उद्यान में जो भराव के लिए मिटटी डाली जा रही है| वो लालू परिवार के बन रहे मॉल से निकाल कर लाया जा रहा है| इस मिटटी को भरवाने में सभी नियमो को ताक पर रख दिया गया है| जिससे सीधे-सीधे आरजेडी प्रमुख को लगभग 90 लाख रूपए तक का सीधा फायदा मिल रहा है| सुशील मोदी ने कहा मिट्टी भरने के लिए हमेशा टेंडर निकाले जाते है| परन्तु इस बार राज्य की सरकार ने सारे नियमो का उल्लंघन करते हुए सीधा सौदा तय कर लिया|

आपको जानना चाहिए पूरा मामला

बिहार की राजधानी पटना में अब तक का सबसे बड़ा मॉल बनाया जा रहा है| यह मॉल डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड द्वारा बनवाया जा रहा है| इस कम्पनी में लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और मौजूदा सरकार में वन्य एवं पर्यावरण मंत्री तेजप्रताप यादव, बिहार के उप मुखयमंत्री व छोटे बेटे तेजस्वी यादव और बेटी चंदा यादव डायरेक्टर है| सीधे तौर पर देखा जाये तो यह इस कम्पनी का मालिक लालू परिवार ही है| सुशील मोदी का आरोप है कि इस मॉल को बिना टेंडर डाले उद्यान में मिटटी भरने के लिए चुन लिया गया|

लालू परिवार की बढ़ी मुश्किलें मिटटी घोटाले को लेकर कभी भी हो सटकी है जांच

वही आरोप यह भी है कि मिटटी देने वाली और उस मॉल को बनाने वाली कंपनी आरजेडी विधायक सैय्यद अबु दौजाना की है| इस कम्पनी को बिहार सरकार ने बिना किसी टेंडर के मिट्टी भरने का ठेका दिया| जिससे लालू परिवार को सीधे-सीधे 90 लाख रूपए का निजी फायदा हुआ है| बिहार सरकार के मुख्य सचिव ने जांच के आदेश दे दिए है| अब देखना होगा कि क्या बिहार में निष्पक्ष जांच होगी| अगर जांच में दोषी पाया गया तो किसे सजा होगी और कितनी?

It's only fair to share...Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0
Pankaj Sharma

Author: Pankaj Sharma

देश की राजनीति से जुडी ख़बरों पर कड़ी नजर रखते हैं. फिल्में देखने का है शौक. नयी जगहों पर घूमना अत्याधिक पसंद