Internet Essay in Hindi for class 5/6 in 100 words

इस सदी के सबसे बेहतरीन अविष्कारों में से एक है ”इन्टरनेट“। पहले इन्टरनेट का प्रयोग केवल कम्प्यूटर पर किया जाता था। लेकिन अब मोबाईल फोन पर भी इसे प्रयोग कर सकते हैं। इन्टरनेट के द्वारा आप किसी भी प्रकार की सूचनाओं और संदेशों को एक सेकेण्ड के अन्दर एक कम्प्यूटर या फोन से दूसरे कम्प्यूटर या फोन पर दुनिया के किसी भी कोने में भेज सकते हैं। इन्टरनेट की सुविधा के कारण आज इन्सान किसी भी जानकारी के लिए दूसरे इन्सान पर निर्भर नहीं है। लेकिन, इसके लाभ के साथ-साथ कुछ नुकसान भी हैं जिनसे हमें सजग रहना चाहिये।Internet Essay in Hindi

Internet Essay in Hindi for class 7/8 in 200 words

आज के युग में ”इन्टरनेट“ एक सुविधा नहीं बल्कि जरूरत बन चुका है। आपके पास कम्प्यूटर अथवा स्मार्ट फोन है पर इन्टरनेट नही तो ये अनुपयोगी साबित होते हैं। आपको दुनिया के किसी भी किसी भी विषय पर जानकारी चाहिये तो इन्टरनेट से बढ़िया जानकारी कोई नहीं दे सकता। इन्टरनेट कनेक्शन जुड़ते ही आप दूर बैठक इंसान से बात भी कर सकते हैं और उसको देख भी सकते हैं। बच्चे हों या बूढ़े सभी इसका लाभ उठा रहे हैं। इन्टरनेट ने दुनिया को बहुत समेट दिया है।

इन्टरनेट की सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपको चाहिये फोन अथवा कम्प्यूटर और इन्टरनेट कनेक्शन। आजकल कई इन्टरनेट सेवा देने वाली कम्पनियाँ हैं जिनको आप अपनी सुविधानुसार चुन सकते हैं। जैसे ही आप के पास ये उपलब्ध होते हैं आप अपनी आवश्यक्तानुसार जानकारी ले सकते हैं और साझा कर सकते हैं।

यह भी पढ़िए  Hindi Essay – Vyayam ke Labh par Nibandh

इन्टरनेट के प्रयोग से व्यक्ति ने समय के बचाव के साथ-साथ आर्थिक लाभ भी किया है। इसकी  उपयोगिता ने काम करने के तरीके तक को बदल दिया है। जहाँ इन्टरनेट के लाभ (benefits of internet)हैं वहीं इसकी बहुत सी हानियाँ भी हैं। जिससे उपयोगकर्ता को सजग रहना चाहिये तथा यह हमारा दायित्व है कि बच्चों को इसके फायदे और नुकसान से अवगत करायें। जिससे वे इसका सही उपयोग कर सकें।

Internet Essay in Hindi for class 9/10 in 500 words

कम्प्यूटर के कई नेटवर्कों के नेटवर्क का नाम है ”इन्टरनेट“। हम इसे इस युग की सबसे बड़ी तकनीकी क्रांति भी कह सकते हैं। यह विज्ञान का सर्वोत्तम अविष्कार माना जाता है, जिसने लोगों की जीवनशैली को ही बदल कर रख दिया है। यह आपको अकल्पनीय रूप से जानकारी लेने एवं देने की सुविधा देता है। इन्टरनेट से जुड़ने पर आप सिर्फ इससे ही नहीं जुड़ते बल्कि सम्पूर्ण विश्व से जुड़ जाते हैं। आप चाहे जितने भी वेबपेज खोल सकते हैं। इसकी कोई सीमा नहीं। चाहे जितनी जानकारी साझा और प्राप्त कर सकते हैं। बस चाहिये तो सिर्फ इन्टरनेट कनेक्शन और डिवाईस जिसमें इन्टरनेट चलेगा।

आज इन्टरनेट की दुनिया में कुछ ऐसा नहीं है जो उपलब्ध न हो। आपको चाहे किसी विषय पर जानकारी चाहिये हो, सामान बेचना एवं खरीदना हो, मनोरंजन करना हो यह आपको सब उपलब्ध करा देगा। इसमें आपको हर विषय पर वेबसाईट उपलब्ध हो जायेगी। आपको कोई समस्या हो तो आप उसके लिए भी सलाह ले सकते हैं। जहाँ आपको जरूरत पड़ने पर एक ढंग की राय उपलब्ध नहीं होती वहीं आपको हजारों सलाह उपलब्ध हो जायेंगी, वे भी बिना किसी स्वार्थ के। यदि आप कामकाजी हैं या घर पर रहते हैं, बच्चे हैं या बूढ़े आपको अपने मतलब का यहाँ वह सब उपलब्ध हो जायेगा जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते। इन्टरनेट का प्रयोग आज कार्यालयों, शिक्षण संस्थानों, रेलवेस्टेशन, रेस्टोरेन्ट, दुकानों, एयरपोर्ट, सिनेमा आदि सारे स्थानों पर हो रहा है। लोग अपने हुनर विडियो डाल कर उससे पैसे कमा रहे हैं तो कुछ हुनर सीख रहे हैं। जिन लोगों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए चंद लोग जुटाने मुश्किल हो जाते थे वहीं अब वे करोड़ों लोगों के आगे अपने हुनर का प्रदर्शन कर रहे हैं। हर व्यक्ति अपनी आवश्यकतानुसार इसका लाभ पूर्ण रूप से उठा रहा है।

यह भी पढ़िए  Hindi Essay – Swami Dayanand Sarswati par Nibandh

इतने सारे लाभ के साथ-साथ इसके कुछ बहुत गंभीर नुकसान भी हैं। यदि आप बिना सोचे समझे इसमें अपनी व्यक्तिगत जानकारी आदि डाल देते हैं तो लोग इसका गलत फायदा भी उठा सकते हैं। आपको ब्लैकमेल कर सकते हैं। कुछ वेबसाईट लोगों को नुकसान और अपने फायदे के लिए ही होती हैं। वे किसी न किसी तरह से आपके गोपनीय जानकारी चुरा लेती हैं और आपको पता भी नहीं चलता। जहाँ बच्चे इससे अपनी शिक्षा से सम्बन्धित महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करते हैं वहीं कुछ ऐसी वेबसाईट भी रहती हैं जो बच्चों के कोमल दिलो-दिमाग पर गलत प्रभाव डालती हैं। लेकिन एक सजग उपभोक्ता होने के नाते यह हमारा कर्तव्य है कि हम ऐसी वेबसाईट को लॉक कर के रखें। कई ऐसे कम्प्यूटर प्रोग्राम भी उपलब्ध हैं (जिन्हें एंटीवाइरस कहते हैं) जो आपको नुकसान पहुँचाने वाली साईटों से आपको आगाह करते हैं और आपको इन्टरनेट का सुरक्षित लाभ उठाने में मदद करते हैं।

अब यह हमारे ऊपर है कि हम इसका प्रयोग समझदारी से करके इसके अकल्पनीय लाभों से लाभान्वित होकर समाज के विकास में भी अपनी भागीदारी निभायें और खुद लाभान्वित होते हुए दूसरों को भी लाभ पहुँचायें।