पार्टी के नेता और सांसद भगवंत मान ने कहा कि पार्टी “मोहल्ला क्रिकेट टीम की तरह बर्ताव कर रही है” और कहा कि पार्टी ने पंजाब में “एक ऐतिहासिक भूल” की है। एमसीडी सर्वेक्षण के परिणाम से पहले अखबार ट्रिब्यून को एक साक्षात्कार में, उन्होंने पंजाब विधानसभा चुनाव के परिणामों में हारने पर चुप्पी तोड़ ली। उन्होंने कहा कि चुनावों से पहले किए गए फैसले ने उन्हें गहरी चोट पहुंचाई है।

आप ने की बड़ी चूक-भगवंत मान

चुनाव में रणनीति के संबंध में पार्टी नेतृत्व ने एक ऐतिहासिक गलती की है| अब ईवीएम में गलती निकालने का कोई फायदा नहीं। मान ने कहा मैंने लगभग 400 रैलियों को सम्बोधित किया था| सबसे पहले अपने भीतर देखना चाहिए कि आखिर गलती कहाँ है? आप बिना वजह बीजेपी पर ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगा रहे है| पार्टी को अपने अंदर देखना चाहिए कि क्यों लोग आम आदमी पार्टी से दूर हो रहे है|

आप नेतृत्व द्वारा ऐतिहासिक गलती, ईवीएम में कोई गलती नहीं: भगवंत मान

पंजाब, संगरूर के सांसद ने कहा उनके पास कई विकल्प है| मई में अपने बच्चो से मिलने अमेरिका जा रहा हूँ| वहां से आने के बाद मै शीर्ष नेतृत्व से बात करूँगा| मान ने कहा कि पार्टी के नेतृत्व ने उन्हें ठुकरा दिया क्योंकि उन्होंने कुछ उम्मीदवारों के नामांकन का विरोध किया था।

आखिर अब क्यों बोल रहे है भगवंत मान

जब उनसे पूछा गया कि वह अब क्यों बोल रहे हैं| भगवंत मान ने कहा कि वह पंजाब के चुनावों के दौरान नहीं चाहते थे कि नुकसान के लिए उन्हें दोषी ठहराया जाये| हास्य अभिनेता से बदलकर राजनीतिज्ञ बने मान ने एमसीडी चुनावों के दौरान प्रचार नहीं किया था| उन्होंने कहा राजौरी गार्डन विधायक जर्नाल सिंह को पंजाब में लाना भी एक संदिग्ध निर्णय था. क्योंकि इसमें पार्टी के मुख्यमंत्री के चेहरे के बारे में लोगो को भ्रम हो गया था। उच्च कमांड के कुछ नेताओं के अति आत्मविश्वास ने पंजाब में पार्टी के चुनावी खेल को खराब कर दिया।