यादव परिवार की छोटी बहू और लखनऊ कैंट से समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार अपर्णा यादव को ‘जाति आधारित आरक्षण’ प्रणाली की कथित आलोचना किये जाने पर भारतीय जनता पार्टी ने आड़े हाथों ले लिया है.

भाजपा नेता उमा भारती ने मंगलवार को कहा ‘‘यादव परिवार की बहू का आरक्षण सम्बन्धी बयान अनुसूचित जातियों तथा पिछड़ों के प्रति सपा की मानसिकता को जाहिर करता है. सपा का जाति आधारित आरक्षण को खत्म किये जाने का यह बयान दुर्भाग्यपूर्ण है.’’ उन्होंने कहा कि भाजपा की मांग है कि सपा इस बयान के लिये अपर्णा के खिलाफ कार्रवाई करे.

अपर्णा यादव सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं. अपर्णा लखनऊ छावनी सीट से सपा की प्रत्याशी हैं. स्थानीय मीडिया पर कल प्रसारित एक बयान में उनके हवाले से कहा गया था कि उनका परिवार पिछड़े वर्ग को होने के बावजूद अच्छी आर्थिक स्थिति में है. लिहाजा उसके सदस्यों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलना चाहिये.

हालांकि भाजपा की इस प्रतिक्रिया के बाद अपर्णा ने स्पष्ट किया कि उन्होंने आरक्षण का कभी विरोध नहीं किया. उनका कहना सिर्फ इतना है कि आरक्षण की सुविधा जाति के आधार पर नहीं बल्कि आर्थिक स्थिति की बुनियाद पर दिया जाना चाहिये. उन्होंने कहा कि भाजपा ने कोई अच्छा काम नहीं किया है. उनके पास कोई मुद्दा ही नहीं है, इसलिये वह तथ्यों को तोड़-मरोड़कर गलत प्रचार कर रही है.