नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने सोमवार को 11 पाकिस्तानी नागरिकों की रिहाई पर केंद्र पर हमला किया| आम आदमी पार्टी ने कहा कि सरकार पाकिस्तान के प्रति दोहरी नीति का पालन कर रही है। एक तरफ तो भाजपा पाकिस्तान के खिलाफ जनता को पागल बनती है, दूसरी तरफ उसी देश के प्रधानमंत्री से गले मिलते है|

अरविन्द केजरीवाल की पार्टी को भाजपा से नाराज़ होने का मिला एक और कारण

वरिष्ठ नेता आशुतोष ने एक तरफ कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का कहना है कि आतंक के साथ पाकिस्तान के साथ बातचीत नहीं हो सकती है| वहीँ दूसरी ओर हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ को गले लगाते हैं। वह कजाकिस्तान के अस्ताना में दो प्रधानों के बीच बातचीत का जिक्र कर रहे थे।

आम आदमी पार्टी ने साधा पीएम मोदी और सुषमा स्वराज पर निशाना

आशुतोष ने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को शरीफ़ को गले लगाने की जरुरत क्या थी। पाकिस्तान कुलभूषण जाधव को फांसी पर लटका देने की तैयारी कर रहा है| और भारत उनके 11 नागरिकों को रिहा कर रहा है। जाधव को 10 अप्रैल को पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने कथित जासूसी के लिए मौत की सजा सुनाई थी। भारत का कहना है कि जाधव एक नौसेना अधिकारी है| जिसको ईरान से अपहरण करके सुरक्षा एजेंसियों द्वारा पाकिस्तान लाया गया था।

शरीफ और मोदी ने पिछले हफ्ते शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की मीटिंग के दौरान बैठक की। आम आदमी पार्टी का कहना है कि हमारे प्रधानमंत्री अगर इस तरह से पाकिस्तान का साथ देंगे तो वो दिन दूर नहीं जब हिंदुस्तान कि जनता उन्हें कुर्सी से हटा कर दम लेगी | आम आदमी पार्टी के साथ-साथ अन्य विपक्षी दलों ने भी भारतीय जनता पार्टी की विदेश निति पर सवाल उठाना शुरू कर दिया है|

यह भी पढ़िए  आरबीआई ने बैंकों को दिए सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराने के आदेश - पकडे जाएंगे नए नोटों के जमाखोर