गोरखपुर में बच्चों की मौत, विपक्ष ने मांगा सीएम योगी से इस्तीफा

कांग्रेस टीम ने मृतकों के परिजनों से मुलाकात की

गोरखपुर: गोरखपुर में शनिवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज पहुंचकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, प्रभारी गुलाम नबी आजाद, डॉ.संजय सिंह और पूर्व मंत्री आरपीएन सिंह ने मरीजों और डॉक्टरों से मुलाकात की. कांग्रेस टीम ने मृतकों के परिजनों से भी मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी.
इसके बाद मीडिया से बातचीत में गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यह बहुत ही दुखद घटना है. बच्चों की मौत से बहुत दुखी हूं. यह सब सरकार की लापरवाही की वजह से हुआ. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री को अपने पद से तुरंत इस्तीफा देना चाहिए. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकते. उन्हें इस्तीफा देना चाहिए.
उन्होंने कहा, “हमारे पास जानकारी है कि अस्पताल में एक महीने से ऑक्सीजन की कमी थी। राज्य में जंगलराज हो गया है। 5 दिन में 60 बच्चों की मौत हुई। मौत के बाद बच्चों के परिवार को जल्दी घर पहुंचा दिया गया ताकि वह किसी के सामने न आ सकें। लापरवाही की जांच के लिए सांसदों की एक समिति बननी चाहिए। पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह ने कहा कि जो कुछ भी हुआ उसमें केवल सरकार की गलती है।
बहुजन ने भी माँगा इस्तीफा:दूसरी ओर बहुजन समाज पार्टी ने भी इस मामले में सरकार पर हमला बोला है। बसपा नेता सुधींद्र भदोरिया ने कहा कि “अगर मुख्यमंत्री के अंदर थोड़ी भी शर्म बची है तो वह गोरखपुर जाकर मृतकों के परिजनों से माफी मांगें। यूपी के मुख्यमंत्री के लिए यह काफी शर्म की बात है । अगर उनके अंदर थोड़ी सी भी शर्म है तो वह नैतिकता के आधार पर तुरंत इस्तीफा दे दें।
सपा ने कहा तुरंत मुआवजा दें:समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि सरकार को मृतकों के परिजनों को मुआवजा देना चाहिए। गरीबों को मुफ्त दवा मिले इसकी भी व्यवस्था सरकार करे। जो कुछ भी हुआ वह शर्मनाक है। इसके लिए सरकार जिम्मेदार है।
सरकार दोषियों पर कार्रवाई करेगी:इस दौरान उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि विपक्ष जल्दबाजी में बयानबाजी कर रहा है। सरकार लोगों की सेवा के लिए समर्पित है। इस मामले में जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

It's only fair to share...Share on Facebook44Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0