गौ-हत्या के शक में सात मुसलमानों के साथ बिहार में हुई मारपीट, हमलावरों की जगह पिटने वालों की हुई गिरफ्तारी

पटना: बिहार के पश्चिमी चम्पारण जिले से तथाकथित गौ-रक्षकों द्वारा सात मुस्लिम व्यक्तियों पर गे का मांस कहानी के शक में हमला कर बुरी तरह पिटाई करने की खबर आई है.

यही नहीं खबर है कि इस घटना में मारपीट करने वालों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई बल्कि जिनकी पिटाई हुई है उन्हीं सात मुस्लिम गांव वालों की पुलिस द्वारा गिरफ्तारी कर ली गई है.

पटना: बिहार के पश्चिमी चम्पारण जिले से तथाकथित गौ-रक्षकों द्वारा सात मुस्लिम व्यक्तियों पर गे का मांस कहानी के शक में हमला कर बुरी तरह पिटाई करने की खबर आई है. यही नहीं खबर है कि इस घटना में मारपीट करने वालों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई बल्कि जिनकी पिटाई हुई है उन्हीं सात मुस्लिम गांव वालों की पुलिस द्वारा गिरफ्तारी कर ली गई है. प्राप्त ख़बरों के अनुसार गौ-रक्षकों की भीड़ ने मुहम्मद सहाबुद्दीन और कुदूस कुरैशी के घर में घुस कर मर पीट की. भीड़ का कहना था कि उन्होंने बीती रात एक गे का बछड़ा चुराया और मांस के लिए उसकी हत्या कर दी. दोनों के अलावा पांच अन्य पड़ोसियों की पिटाई के बाद उन्हें घर में बंद कर दिया गया. पुलिस के आने पर पथराव भी किया गया. पुलिस ने सातों मुसलिम गांव वालों को गिरफ्तार कर उन पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाया है. पुलिस अफसर संजय कुमार झा के अनुसार हमला करने वालों के खिलाफ कोई शिकायत नहीं होने के कारण कोई कार्यवाही नहीं की गयी है. झा के अनुसार "पुलिस की प्राथमिकता स्थिति को नियंत्रित करना था. आसपास के गांवों से भी भरी संख्या में भीड़ इकठ्ठा होने की वजह से अप्रिय घटना घटित होने की आशंका बनी हुई थी".प्राप्त ख़बरों के अनुसार गौ-रक्षकों की भीड़ ने मुहम्मद सहाबुद्दीन और कुदूस कुरैशी के घर में घुस कर मार-पीट की. भीड़ का कहना था कि उन्होंने बीती रात एक गाय का बछड़ा चुराया और मांस के लिए उसकी हत्या कर दी. दोनों के अलावा पांच अन्य पड़ोसियों की पिटाई के बाद उन्हें घर में बंद कर दिया गया. पुलिस के आने पर पथराव भी किया गया.

पुलिस ने सातों मुसलिम गांव वालों को गिरफ्तार कर उन पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाया है.

पुलिस अफसर संजय कुमार झा के अनुसार हमला करने वालों के खिलाफ कोई शिकायत नहीं होने के कारण कोई कार्यवाही नहीं की गयी है. झा के अनुसार “पुलिस की प्राथमिकता स्थिति को नियंत्रित करना था. आसपास के गांवों से भी भारी संख्या में भीड़ इकठ्ठा होने की वजह से अप्रिय घटना घटित होने की आशंका बनी हुई थी”.

अभी हाल ही में प्रधान मंत्री ने गौ-रक्षा के नाम पर मारपीट को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किये जाने का बयान देकर तथाकथित गौरक्षकों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए थे. लेकिन लगता है इसका कोई प्रभाव ऐसे स्वयंभू गौरक्षकों पर नहीं पड़ा है.

भाजपा मंत्रिमंडल में होगा फेरबदल – 2019 में 360 सीटों का लक्ष्य

नयी दिल्ली: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बृहस्पतिवार को भाजपा मुख्यालय में पार्टी के 30 से ज्यादा वरिष्ठ नेताओं के साथ तीन घंटे तक चली मैराथन बैठक में 2019 के चुनावों में पार्टी की 360 से अधिक सीटों का लक्ष्य दिया. सूत्रों के अनुसार भाजपा अध्यक्ष ने नेताओं को अपना ध्यान और प्रयास ऐसी लोकसभा सीटों पर लगाने को कहा है जहाँ 2014 के चुनावों में भाजपा प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा था.

modi amit shah 360 seats 2019 electionsयह संभावना भी जताई जा रही है कि केंद्र की मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में इसी महीने फेरबदल किया जा सकता है. मंत्रिमंडल में फेरबदल के पीछे तीन बातों पर जोर रहने की सम्भावना है:

पहला – कुछ ऐसे मंत्रियों को बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है जिनकी परफॉरमेंस से प्रधान मंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह खुश नहीं हैं.
दूसरा – आने वाले समय में गुजरात, राजस्थान, बंगाल आदि राज्यों में होने वाले चुनावों के मद्दे-नजर कुछ ऐसे तेज-तर्रार नेताओं को संगठन में लाया जा सकता है जिन्हें चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी दी जाएगी.
तीसरा – राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ भी कुछ मंत्रियों से नाराज चल रहा है. वैसे तो प्रधानमंत्री संघ को ज्यादा वजन देने के मूड में नहीं बताये जा रहे फिर भी संघ को पूरी तरह से नजरअंदाज कर पाना उनके लिए भी संभव नहीं होगा.

माना जा रहा है कि भाजपा तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और बंगाल पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित कर रही है. बंगाल में भाजपा की रणनीति चुनाव में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराने की है भले ही वह चुनाव में सीटों की ख़ास संख्या न भी ले पाए. कहा जा सकता है की भाजपा की रणनीति 2019 के चुनावों में बंगाल में लेफ्ट फ्रंट और कोंग्रेसको पीछे छोड़ कर दूसरे स्थान पर रहने अर्थात मुख्य विपक्ष की भूमिका में आने की है. वहां से भाजपा 2024 के चुनाव में राज्य की सत्ता पर पहुंचने की उम्मीद रख रही है.

बुधवार को नौ मंत्रियों ने अमित शाह के सामने पेश होकर अपने कामकाज का लेखा-जोखा पेश किया. इन मंत्रियों में रविशंकर प्रसाद, प्रकाश जावडेकर, धर्मेंद्र प्रधान, पीयूष गोयल, जेपी नड्डा, नरेंद्र सिंह तोमर, निर्मला सीतारमण, मनोज सिन्हा और अर्जुन राम मेघवाल मौजूद थे।

पार्टी का मुख्य जोर उन 150 सीटों पर है जहाँ पार्टी 2014 के लोकसभा चुनाव में दुसरे स्थान पर रही थी. साथ ही बड़े राज्यों में से सिर्फ एक कर्नाटक ऐसा राज्य है जहाँ कांग्रेस अभी भी सत्ता में बची हुई है. अपने कांग्रेस मुक्त भारत के लक्ष्य में भाजपा कर्नाटक से भी कांग्रेस को उखाड़ फेंकना चाहेगी.

भाजपा अपने कुछ ऐसे सहयोगियों से भी पीछा छुड़ाना चाहती है जो उसके लिए सिरदर्द बने हुए हैं. इनमें अकालीदल, शिव सेना और इनेलो शामिल हैं. यही कारण है कि भाजपा 2019 के चुनाव में 360 से अधिक सीटों के लक्ष्य के साथ  उतरना चाह रही है.

अब मल्टीकलर होगा एमआरआई

वाशिंगटन। वैज्ञानिकों ने एमआरआई (मैग्नेटिक रिजोनेंस इमेजिंग) को बहुरंगी बनाने का तरीका विकसित कर लिया है जिससे बीमारियों की पहचान में मदद मिल सकती है। एमआरआई की मौजूदा तकनीकों में एकमात्र कंट्रास्ट एजेंट का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे मरीज की नसों में तस्वीरें लेने के लिए भेजा जाता है।

नई तरकीब में एकसाथ दो एजेंटों का इस्तेमाल किया जाता है। इससे डॉक्टर एक ही एमआरआई में किसी मरीज के आंतरिक अंगों के कई गुणों का पता लगा सकते हैं। अमेरिका के केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन में असोसिएट प्रोफेसर क्रिस फ्लास्क ने कहा, हमने जिस तरीके को तैयार किया है, वह पहली बार एमआरआई के दो अलग-अलग कंट्रास्ट एजेंटों का एकसाथ पता लगाने की सुविधा देता है। उदाहरण के लिए, दो कंट्रास्ट एजेंट में से एक बीमार ऊतक को लक्षित कर सकता है और दूसरा यह दिखा सकता है कि कोई अन्य ऊतक कितना स्वस्थ है।

फ्लाइट में 15 किलो से ज्यादा वजन का सामान पड़ेगा महंगा


नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने नागर विमानन महानिदेशालय (डी.जी.सी.ए.) के उस सर्कुलर पर रोक लगा दी है जिसमें हवाई यात्रा के दौरान तय सीमा से अधिक मात्रा में बैगेज होने पर प्रति किलोग्राम 100 रुपए फीस वसूले जाने की बात कही गई थी। निजी एयरलाइंस कंपनियां अपने पूर्व नियम के अनुसार तय सीमा से अतिरिक्त बैगेज होने पर प्रति किलोग्राम 220 से 350 रुपए तक वसूलती थीं।

देना होगा इतना चार्ज: हालांकि, एयरलाइंस कंपनियों को 20 किलो से ज्यादा वजन के बैगेज पर अपनी मर्जी से चार्ज वसूलने की आजादी मिली हुई थी। लेकिन, अब उन्हें 15 किलो से ही 5 किलो तक के ज्यादा वजन तक प्रति किलो 350 रुपए वसूलने का फिर से पहले जैसा ही अधिकार मिल गया। इसका मतलब यह है कि अब हवाई यात्रियों को 15 से ज्यादा और 20 किलो तक वाले बैगेज पर प्रति किलो 250 रुपए की दर से अतिरिक्त चार्ज देना होगा।

 

भारतीय मूल के राहुल का आईक्यू अल्बर्ट आइंस्टीन से भी ज्यादा है

लंदन। ब्रिटेन में एक टीवी कार्यक्रम में सभी सवालों के सही जवाब देने के बाद भारतीय मूल के 12 वर्षीय राहुल एक ही रात में चर्चा में आ गए है। नई टीवी सीरीज ‘चाइल्ड जीनियसÓ के पहले दौर में राहुल ने सभी 14 सवालों के सही जवाब दिये। चैनल 4 की ओर से प्रसारित शो ‘चाइल्ड जीनियस’ में राहुल से पहले दौर में 14 सवाल पूछ कर उनका आईक्यू आंका गया, जो 162 साबित हुआ। इस लिहाज से राहुल का आईक्यू अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफेन हॉकिंग जैसी हस्तियों से भी अधिक माना जा रहा है। इसके साथ ही राहुल दुनिया के सबसे पुराने हाई आईक्यू सोसाइटी ‘मेन्सा क्लब’ का मेंबर बनने के भी योग्य हो गए।

स्पेलिंग राउंड में फुल माक्र्स मिले: इस प्रतियोगिता में राहुल को स्पेलिंग राउंड में फुल माक्र्स मिले हैं, इस दौरान राहुल ने कई तरह के सवालों के जवाब दिए जिनमें स्पेलिंग से लेकर दो शब्दों से गायब किए गए एक ही तरह के दो अक्षरों को पहचानना जैसे सवाल शामिल थे। सीमित समय के इस खेल में राहुल ने 15 में से 14 सवालों के सही-सही जवाब दिए लेकिन समय की कमी की वजह से राहुल के सामने 15वां सवाल पूछा ही नहीं जा सका।

सोशल मीडिया पर हिट हुए:चाइल्ड जीनियस के इस सीजन में 08 से 12 साल के कुल 20 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया है। एक हफ्ते तक चलने वाली इस प्रतियोगिता के बाद किसी एक प्रतिभागी को विजेता घोषित किया जाएगा। लेकिन टीवी शो के फस्र्ट राउंड में सभी पूछे गए जवाबों के सही जवाब देकर जीतने पर राहुल सोशल मीडिया पर हिट हो गए।

राहुल ने कहा मैं जीनियस हूं: राहुल ने अपनी इस जीत पर ख़ुशी जाहिर की और कहा कि मैं हमेशा अपना बेस्ट देना चाहता हूं। फिर इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि सामने वाली चीज का मूल्य क्या है। मैं सोचता हूं कि मैं जीनियस हूं। मेरी मैथ्स और जनरल नॉलेज बहुत अच्छी है। अपनी सफलता पर राहुल बहुत खुश दिखाई दिये। राहुल के माता-पिता ने बताया कि बेटे की सफलता से बहुत खुश हैं। राहुल के पापा आईटी मैनेजर हैं और उनकी मां फार्मासिस्ट हैं।

सड़कों पर नमाज नहीं रोक सकते तो थानों में जन्माष्टमी क्यों रोकें:योगी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि देश में सांस्कृतिक एकता को जोडऩे वालों को सांप्रदायिक कहा जाता है। यदि हम यह कह दें कि गर्व से कहो हम हिंदू हैं तो लोग कहेंगे देखिए सांप्रदायिक हैं। आप आराम से क्रिसमस मनाइए, नमाज पढि़ए। कोई नहीं रोक रहा है, लेकिन कानून के दायरे में रहकर। कानून का उल्लंघन होने पर ही टकराव उत्पन्न होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच दशक पूर्व पं. दीन दयाल उपाध्याय ने अंत्योदय की बात कही थी। जनधन योजना के तहत समाज के अंतिम व्यक्ति को बैंक से जोड़ा गया। अब इसी खाते में सरकारी योजनाओं की धनराशि जा रही है। पीएम आवास योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में 10 लाख और शहरी क्षेत्रों में दो लाख गरीबों के लिए आवास बनेंगे। यह धनराशि सीधे गरीबों के खाते में जाएगी।उन्होंने कहा कि पं. दीन दयाल उपाध्याय और डॉ. राम मनोहर लोहिया दोनों मानते थे कि श्रीराम व श्रीकृष्ण ने देश को एक रूप दिया है।

नीतीश घोटाले से बचने के लिए भाजपा की शरण में गए

लालू का आरोप

 

रांची.नीतीश घोटाले से बचने के लिए भाजपा की शरण में गए भागलपुर में सृजन एनजीओ घोटाला सामने आने के बाद अब भ्रष्टाचार के मुद्दे पर तेजस्वी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बीजेपी को घेर रहे हैं। सृजन घोटाले की जांच में अब तक 600 करोड़ रुपए के घोटाले की बात सामने आई हैं, जबकि आरजेडी का दावा है कि घोटाला 2500 करोड़ का है। लालू ने रांची में नीतीश पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘नीतीश कुमार इस घोटाले से बचने के लिए बीजेपी की शरण में गए हैं।
क्या है सृजन घोटाला?
दरअसल बिहार के भागलपुर जिले में एक सृजन नाम का एनजीओ है. जिसे साल 1996 में महिलाओं को काम देने के मकसद से शुरु किया गया था। तीन अगस्त को 10 करोड़ के एक सरकारी चेक के बाउंस होने के बाद इस एनडीओ में घोटाला होने का मामला सामने आया। छानबीन में पता चला चला कि जिलाधिकारी के फर्जी हस्ताक्षर से बैंक से सरकारी पैसा निकाल कर एनजीओ के खाते में डाला गया। मामला सामने आते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फ़ानन में पुलिस हरकत में आई। पुलिस ने एसआईटी का गठन करके इस मामले से जुड़े लोगों के घर और सृजन एनजीओ के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। इस मामले में अभी तक सात एफआईआर दर्ज हुई हैं, जिनके आधार पर 10 लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है।

शरद के मंच पर पहुंचे मनमोहन-राहुल, दिग्गजों का जमावड़ा

साझी विरासत बचाओ सम्मेलन

नयी दिल्ली: दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशनल क्लब में जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव द्वारा आयोजित किये गये ‘साझी विरासत बचाओ’ सम्मेलन में विपक्ष के कई दलों के नेताओं ने मंच साझा किया। इस सम्मेलन में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद,सीताराम येचुरी, फारुक अब्दुल्लाह समेत विपक्ष के कई नेता शामिल हुए। सम्मेलन की शुरुआत में शरद यादव ने कहा कि देशभर में किसानों और दलितों के साथ अत्याचार हो रहा है, देश भर में बेचैनी है। शरद यादव ने कहा कि मैंने किसी को नहीं बुलाया है फिर भी हजारों लोग मेरे साथ जुड़ रहे हैं।
संविधान ही हमारा धर्मग्रंथ है:शरद यादव:शरद यादव ने बिना किसी का नाम लिये कहा कि देश के अंदर जो भी लोग हिंसा करना चाहते हैं, आस्था के नाम पर, धर्म और मजहब के नाम पर, गोबर और गाय के नाम पर, लव-जिहाद के नाम पर, उस हाथ को थामना है। कोई किसी पर हाथ उठाये, उस हाथ को रोकना है। यही हमारे पुरखों ने किया है। संविधान में जो लिखा है, उसे गांव-गांव, देहात-देहात, शहर के एक-एक आदमी को बताने का काम हम करेंगे। संविधान ही गीता है, कुरान है, बाइबिल है। हिंदुस्तान का संविधान ही देश के 125 करोड़ जिंदा लोगों का धर्मग्रंथ है।
राहुल ने किया मोदी पर सीधा वार:राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी हर जगह ‘मेक इन इंडिया’ की बात करते हैं, लेकिन आप जहां भी जाएं आपको ‘मेड इन चाइना’ दिखेगा। वे इस झूठ को छुपा रहे हैं कि मेक इंडिया पूरी तरह फ्लॉप हो चुका है। सबसे बड़े नेता ब्रिटिश सरकार के सामने लड़ाई नहीं कर पाए थे। उनके एक नेता ने ब्रिटिश सरकार को पत्र लिखकर जेल से फ्री करने की बात कही थी। संघ पर वार करते हुए राहुल ने कहा कि इन लोगों ने तिरंगे को सलाम करना भी सत्ता में आने के बाद सीखा है। पिछले 2 साल में 1 लाख 30 करोड़ रुपए 10-15 करोड़पतियों का माफ कर दिया है। तमिलनाडु के किसान जंतर-मंतर पर नंगे होकर प्रदर्शन कर रहे हैं, किसान पूरे देश में मर रहे हैं।
राहुल पर भाजपा का पलट वार :केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आरएसएस के खिलाफ राहुल के परनाना नेहरू भी शिकायत करते थे, दादी इंदिरा ने भी अभियान चलाया, राजीव गांधी बोफार्स में फंसे तो संघ की आलोचना की लेकिन हकीकत यह है कि देश के लोग संघ की देशभक्ति और समाजसेवा के कारण उनका सम्मान करते हैं.

बार्सिलोना में आतंकी हमला, 13 की मौत,कई घायल

वैन ने दर्जनों लोगों को कुचल दिया

बार्सिलोना.बार्सिलोना शहर में एक वैन में बैठे सनकी शख्स ने कई लोगों को कुचल दिया. फिलहाल घटना में 13 लोगों की मौत हो चुकी और 50 लोग घायल हो चुके हैं. स्पेन के चर्चित,शांत और सुन्दर शहर में सड़कों पर खून के धब्बे इस बात की तस्दीक़ कर रहे हैं कि हादसा कितना ख़ौफ़नाक था. पुलिस मानना है ये हादसा आतंकी हमला भी हो सकता है. पुलिस के मुताबिक़ बार्सिलोना के लास रमब्लास में एक वैन लोगों की भीड़ के बीच घुस गई. इस ‘जबरदस्त टक्कर’ के हमले में कई लोग घायल हुए हैं.लोगों ने बताया कि लोगों को कुचलने के बाद वैन का ड्राइवर भाग निकला. जांच में वैन से किसी तरह का विस्फोटक नहीं मिला है. पुलिस ने एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है. इसके अलावा कातालोनिया इलाके से एक संदिग्ध वैन भी बरामद की गई है.

शाहरुख़ खान दिलीप कुमार से मिलकर भावुक हुए

सायरा बानो ने कहा शाहरुख़ हमारा मुंह बोला बेटा

मुंबई: शहंशाहे बॉलीवुड दिलीप कुमार कुछ दिन अस्पताल में रहने के बाद अब घर वापस आ गए हैं और उनकी हालत पहले से बेहतर बताई जा रही है। यूं तो दिलीप कुमार की स्थिति जानने वालों की सूची काफी लंबी है, लेकिन शाहरुख खान दिलीप कुमार का हालचाल जानने के लिए उनके घर पहुंचे।
शाहरुख खान ने दिलीप कुमार से उनकी तबीयत के बारे में पूछा। आपको बता दें कि दिलीप कुमार शाहरुख को अपना मुंह बोला बेटा मानते हैं और शाहरुख कई मौकों पर कह चुके हैं कि वह दिलीप कुमार के प्रशंसक हैं और उन्हीं को देखकर वह फिल्मों में आए थे. दिलीप उल्लेखनीय है कि दो अगस्त को निर्जलीकरण और संक्रमण की शिकायत के बाद दिलीप कुमार को लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लगभग एक सप्ताह तक डॉक्टरों की निगरानी में रहने के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई, वह घर वापस आ गए।